आरती संग्रह :: श्री कआरती श्री सांईबाबा की

आरती श्री सांईबाबा की

आरती श्री सांईबाबा की

आरती श्री साई गुरुवर की, परमानंद सदा गुरुवर की ।
जाकी कृपा विपुल सुखकारी, दु:ख शोक संकट भयहारी ।
शिरडी में अवतार रचाया, चमत्कार से तत्व दिखाया ।
कितने भक्त शरण में आये, वे सुख शंति निरंतर पाये ।
भाव धरे जो मन में जैसा, साई का अनुभव वैसा ।
गुरु की उदी लगावे तन को, समाधान लाभत उस तन को ।
साई नाम सदा जो गावें, सो फल जग में शाश्वत पावें ।

गुरुवासर करि पूजा सेवा, उस पर कृपा करत गुरु देवा ।
राम कृष्ण हनुमान रुप में, दे दर्शन जानत जो मन में ।
विविध धर्म के सेवक आतें, दर्शन कर इच्छित फल पातें ।
जै बोलो साई बाबा की, जै बोलो अवधूत गुरु की ।
साई की आरती जो कोई गावे, घर में बसि सुख मंगल पावे ।
आरती श्री साई….
अनंत कोटि ब्रह्माण्ड़ नायक, राजाधिराज योगीराज
जय जय जय साई बाबा की
आरती श्री साई गुरुवर की……

अनमोल विचार
आरती संग्रह

शैलपुत्री (Shailputri)

शैलपुत्री

ब्रह्मचारिणी (Brahmcharini)

ब्रह्मचारिणी

चंद्रघंटा (Chandraghanta )

चंद्रघंटा

कूष्माण्डा (Kushmanda)

कूष्माण्डा

स्कन्दमाता(Sakandmata)

स्कन्दमाता

कात्यायनी (Katyayni)

कात्यायनी

कालरात्रि (Kaalratri)

कालरात्रि

महागौरी (Mahagauri)

महागौरी

सिद्धीदात्री (Sidhidatri)

सिद्धीदात्री