जानें सपनों का मतलब

जानें सपनों का मतलब

जानें सपनों का मतलब

जानें सपनों का मतलब

जानें सपनों का मतलब Meaning of dreams
सपनों का मतलब (Swapan Phal) जानने के लिए किसी कैटेगरी पर क्लिक करें
Dream Interpretation Categories: Please click on the item to see the interpretations.

जानें सपनों का मतलब Meaning of dreams
सपनों का मतलब (Swapan Phal) जानने के लिए किसी कैटेगरी पर क्लिक करें
Dream Interpretation Categories: Please click on the item to see the interpretations.

सपने भी कुछ कहते हैं: जानें सपनों का मतलब

ज्योतिष शास्त्र मानता है कि सपने हमारे भविष्य का आइना होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर सपने का मतलब या अर्थ होता है। कुछ सपनें हमारे भविष्य से तो कुछ बीते हुए पल की कहानी कहते हैं। सपनों की व्याख्या या स्वप्न फल (Swapan Phal) के बारें में मत्स्य पुराण में विस्तार से बताया गया है।

कब और कौन से सपने होते हैं पूरे ?

मत्स्य पुराण के अनुसार स्वप्न फल से जुड़ी अहम जानकारी निम्न है:
माना जाता है कि अगर अच्छा सपना देखें तो उसके बाद सोना नहीं चाहिए। अच्छे सपने के बाद

उठकर भजन या चिंतन करना चाहिए और सबसे जरूरी अच्छे सपने किसी को नहीं बताना चाहिए।
सूरज उगने से कुछ पहले अर्थात ब्रह्म मुहूर्त में देखे गए सपने का फल 10 ​दिनों में सामने आ जाता है।
माना जाता है कि रात के पहले पहर में देखे गए सपने का फल एक साल बाद, दूसरे पहर में देखे सपने का फल 6 महीने बाद आता है।
तीसरे पहर में देखे सपने का फल 3 महीने बाद और आ​खिरी पहर के सपने का फल एक महीने में सामने आता है। ​
दिन के सपनों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

अनमोल विचार

शैलपुत्री (Shailputri)

शैलपुत्री

ब्रह्मचारिणी (Brahmcharini)

ब्रह्मचारिणी

चंद्रघंटा (Chandraghanta )

चंद्रघंटा

कूष्माण्डा (Kushmanda)

कूष्माण्डा

स्कन्दमाता(Sakandmata)

स्कन्दमाता

कात्यायनी (Katyayni)

कात्यायनी

कालरात्रि (Kaalratri)

कालरात्रि

महागौरी (Mahagauri)

महागौरी

सिद्धीदात्री (Sidhidatri)

सिद्धीदात्री