अदभुत धार्मिक स्थल:: ढाई सौ साल पुराना है भीमेश्वरी देवी मंदिर

ढाई सौ साल पुराना है भीमेश्वरी देवी मंदिर

नवरात्र के इन दिनों में झज्जर स्थित 84 घंटे वाली माता भीमेश्वरी देवी मंदिर की रौनक भी देखते ही बनती है। रोजाना संकीर्तन तो हो ही रहा है, दिल्ली-एनसीआर सहित देश के अन्य हिस्सों से भी यहां खासी संख्या में भक्त पहुंच रहे हैं। मंदिर की खासियत इसके नाम के अनुरूप छोटे बड़े 84 घंटे ही हैं। मंदिर के पुजारी पंडित शिवओम भारद्वाज बताते हैं कि इस मंदिर की स्थापना लगभग 250 साल पहले हुई थी।

मंदिर में स्थापित मां की प्रतिमा भी यहीं पर जमीन के भीतर से निकली थी। पंडित जी के मुताबिक उन के पूर्वज पिछली 10 पीढि़यों से इस मंदिर की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मां की प्रतिमा गोद में उठाए जब भीम इंद्रप्रस्थ से कुरूक्षेत्र के लिए रवाना हुए तो यहां पर उन्होंने थोड़ी देर विश्राम किया था व साथ ही झपकी भी ली थी। किंतु उन्होंने मां की प्रतिमा को गोद में ही रखा जबकि बेरी में भीम ने मां की प्रतिमा को लघुशंका करने के लिए गोद में से नीचे रख दिया था। ऐसे में बेरी में तो मां भीमेश्वरी देवी के रूप में स्थापित ही हो गई, जबकि यहां पर जमीन से प्रतिमा निकलने पर उनका दूसरा मंदिर बना दिया गया।

अनमोल विचार