व्रत हिंदू संग्रह :: पूर्णिमा व्रत २०२०

पूर्णिमा व्रत २०२०

उत्तरी भारत में जिस दिन पुरा चाँद होता है उसे पूर्णिमा कहते हैं और दक्षिणी भारत में जिस दिन पूरा चाँद होता है उसे पूर्णामी कहते हैं। दक्षिणी भारत में इस दिन का उपवास पूर्णामी व्रतम के नाम से जाना जाता है। पूर्णामी व्रतम सूर्योदय से लेकर चन्द्रमा के दर्शन तक किया जाता है।
पूर्णिमा व्रत के दिन किन्ही दो स्थानों के लिए अलग-अलग भी हो सकते हैं। इसीलिए हर किसी को पूर्णिमा व्रत के दिन देखने से पहले अपना शहर का चुनाव कर बदल लेना चाहिए।

दिनांक पूर्णिमा व्रत २०२० पूर्णिमा व्रत
१० जनवरी (शुक्रवार) पूर्णिमा व्रत २०२० पौष पूर्णिमा
०९ फरवरी (रविवार) पूर्णिमा व्रत २०२० माघ पूर्णिमा व्रत
०९ मार्च (सोमवार) पूर्णिमा व्रत २०२० फाल्गुन पूर्णिमा व्रत
०७ अप्रैल (मंगलवार) पूर्णिमा व्रत २०२० चैत्र पूर्णिमा
०७ मई (बृहस्पतिवार) पूर्णिमा व्रत २०२० वैशाख पूर्णिमा
०५ जून (शुक्रवार) पूर्णिमा व्रत २०२० ज्येष्ठ पूर्णिमा
०४ जुलाई (शनिवार) पूर्णिमा व्रत २०२० आषाढ़ पूर्णिमा व्रत
०३ अगस्त (सोमवार) पूर्णिमा व्रत २०२० श्रावण पूर्णिमा व्रत
०१ सितम्बर (मंगलवार) पूर्णिमा व्रत २०२० भाद्रपद पूर्णिमा व्रत
०१ अक्टूबर (बृहस्पतिवार) पूर्णिमा व्रत २०२० अश्विन पूर्णिमा व्रत
३१ अक्टूबर (शनिवार) पूर्णिमा व्रत २०२० अश्विन पूर्णिमा व्रत
२९ नवम्बर (रविवार) पूर्णिमा व्रत २०२० कार्तिक पूर्णिमा व्रत
२९ दिसम्बर (मंगलवार) पूर्णिमा व्रत २०२० मार्गशीर्ष पूर्णिमा

अनमोल विचार